कालिदास का जीवन परिचय एवं प्रमुख रचनाएँ

“कालिदास” का अर्थ है ‘कालि’ का ‘सेवक’ अथवा ‘दास’ । यह सत्य है कि वे दिव्यज्ञानी और अप्रतिम प्रतिभा के धनी थे क्योंकि उन्हें माँ काली का आशीर्वाद प्राप्त था, इसीलिए उन्हें “काली-दास” के उपनाम से जाना जाता है। हो सकता है इससे पूर्व उन्हें किसी अन्य नाम से जाना जाता होगा।

श्रीकृष्ण – सर्वोत्तम मित्र | भगवतगीता सार

श्रीकृष्ण – सर्वोत्तम मित्र             श्रीकृष्ण अर्जुन की बुआ के पुत्र थे। परंतु इससे बढ़कर वे अर्जुन के मित्र अधिक थे। वे एक विश्वसनीय मित्र थे। यदि श्रीकृष्ण पाण्डवों तथा विशेष रूप से अर्जुन के साथ न होते तो वे सब दुर्योधन और उसके सहयोगियों द्वारा निर्दयतापूर्वक मारे गये होते। श्रीकृष्ण … Read more

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक | Bal Gangadhar Tilak

लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक           लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक ने कहा था— “ स्वतन्त्रता मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर ही रहूँगा। ” तिलक का यह कथन ‘ स्वतन्त्रता मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है ‘ सत्य था किन्तु ‘ मैं इसे लेकर ही रहूँगा ‘ उनके जीवन काल में … Read more

गोपाल कृष्ण गोखले | Gopal Krishna Gokhale

गोपाल कृष्ण गोखले ✍️ गोपाल कृष्ण गोखले का जीवन परिचय            गोपाल कृष्ण गोखले भारत के स्वाधीनता संग्राम में जिन विभूतियों का प्रमुख सहयोग रहा है, उनमें श्री गोपाल कृष्ण गोखले का नाम अपना एक विशिष्ट स्थान रखता है। आने वाली पीढ़ियों को उनके विषय में जानकारी देना वांछनीय समझ कर … Read more

झाँसी की महारानी लक्ष्मी बाई | Maharani Laxmi Bai

महारानी लक्ष्मी बाई  ✍️ महारानी लक्ष्मी बाई का जीवन परिचय          महारानी लक्ष्मी बाई का जन्म काशी में कार्तिक कृष्णा 14 सम्वत् 1892 तदनुसार 16 नवम्बर, 1835 में हुआ था। उनकी माता का नाम भागीरथी बाई था एवं पिता का नाम मोरोपन्त बलवन्त राव ताम्बे था। वे ब्राह्मण थे एवं सतारा जिले … Read more

Bhagat Singh | भगतसिंह

भारत माँ का सपूत भगतसिंह भगतसिंह का जीवन परिचय       अमर शहीद सरदार भगतसिंह के नाम से आज कौन परिचित नहीं है ? भगतसिंह एक महान् क्रान्तिकारी एवं देशभक्त व्यक्ति थे। उनका आदर्श केवल भारत को गुलामी से मुक्ति दिलाना ही नहीं, बल्कि साम्राज्यवाद का नाश भी था। भगतसिंह निर्भय एवं साहसी व्यक्ति … Read more

पारिवारिक  सम्बंध _  रिश्तों  को  समझना | Family Relation

पारिवारिक  सम्बंध _  रिश्तों  को  समझना “माता  के  प्यार,  पिता  के  दुलार  और  भाई  -बहिन  के  पवित्र रिश्ते  में  सुख-शांति   व  सही मार्गदर्शन  का  वातावरण  सृजित  होता  है।  अतः  परिवार  व  किशोरों  की  आपसी  समझ, कतर्व्य  पूर्ति  व  संवाद,  परिवार  को  किशोरों   की  आदर्श  पाठशाला  बना  देते  हैं।”            हमारी  स्वयं  … Read more

प्रेम रंग में दीवानी मीरा ~ करुणा व प्रेम का प्रतीक लोकदेवता बाबा रामदेव ~ रामसा पीर, रुणेचा रा धणी, पीरां रा पीर श्रीकृष्ण को सर्वोत्तम मित्र क्यों माना जाता है ? परमाणु क्या होता है ? आप जानते हो ! झाँसी की रानी के रहस्मयी तथ्य सुनीता विलियम्स ~ भारतीय मूल की अन्तरिक्ष यात्री पारिवारिक सम्बंध में हमारे रिश्तों की पहचान क्या होती है ? क्या आप पदार्थ (Matter) के बारे में जानते है ?🤔 सरदार भगतसिंह क्यों बने क्रन्तिकारी ? भूमण्डलीय स्थितीय तंत्र (GPS – Global Positioning System ) International Pushkar Fair