Fundamental Duties & DPSP | मूल कर्त्तव्य और राज्य के नीति निर्देशक तत्व 

 Fundamental Duties And Directive Principles of State Policy | मूल कर्त्तव्य और राज्य के नीति निर्देशक तत्व    मूल कर्त्तव्य ( Fundamental Duties )                   अधिकार व कर्तव्य का अनन्य सम्बन्ध है। अधिकार एवं कर्तव्य एक दूसरे के पूरक हैं। एक व्यक्ति के कर्तव्य दूसरे के अधिकार बन … Read more

मूल अधिकार | Fundamental Rights

भारत के संविधान में मूल अधिकार मूल अधिकार का अर्थ एवं महत्त्व :-             मूल अधिकारों की व्यवस्था भारत के संविधान की एक प्रमुख विशेषता है। मूल अधिकार उन अधिकारों को कहा जाता है जो व्यक्ति के लिये मौलिक तथा अनिवार्य होने के कारण संविधान द्वारा प्रदान किये जाते हैं … Read more

भारत की संघीय व्यवस्था | Federal System of India

 भारत की संघीय व्यवस्था                भारतीय संविधान निर्माताओं ने भारत को राज्यों का संघ ‘ (Union of States) की संज्ञा दी है। भारत के संविधान में कहीं भी संघ (Federation) शब्द का उल्लेख नहीं किया गया है। हमारे संविधान का निर्माण करते समय संविधान निर्माताओं के सम्मुख भारत शासन … Read more

उद्देशिका | प्रस्तावना | Introduction of Constitution

उद्देशिका | प्रस्तावना               प्रत्येक संविधान के प्रारम्भ में समान्यतया एक प्रस्तावना होती है, जिसके द्वारा संविधान में मूल उद्देश्यों व लक्ष्यों को स्पष्ट किया जाता है। जिसका मुख्य प्रयोजन संविधान निर्माताओं के विचारों तथा उद्देश्यों को स्पष्ट करना होता है, जिससे संविधान की क्रियान्विति तथा उसके पालन में … Read more

भारतीय संविधान की प्रमुख विशेषताएं

भारतीय संविधान की प्रमुख विशेषताएं              भारतीय संविधान निर्माताओं ने इस देश की ऐतिहासिक , सामाजिक , धार्मिक तथा राजनीतिक परिस्थितियों को दृष्टिगत रखकर संविधान का निर्माण किया ।  भारत के संविधान की अपनी विशिष्टता है जो उसे विश्व के अन्य संविधानों से अलग करती है । यद्यपि इसमें विश्व … Read more